Poetry

कोई आने को हैं।

कुछ बातें भिजवा दो,
कोई ख़्वाब नया आने को हैं।

मुलाकातों के दिन गुजर गए,
कुछ इत्तेफ़ाक़ भिजवा दो,
कोई अफसाना नया होने को हैं।

रात हैं इंतज़ार में तरस रही,
कुछ तन्हाई मिटा दो,
कोई याद अपना आने को हैं।

जाम खाली रखे हैं,
कुछ बातें भिजवा दो,
कोई ख़्याल आने को हैं।

Advertisements
Standard
Fictions

Kiss

“I am coming in a minute.” He went to pick call, leaving her with a pint of beer.

A few minutes later, he couldn’t find her at the table. He looked around, and found her in smoking room.

She was lighting her cigarette, when he entered. It was dull and dark room. Pint in his hand, cigarette on her lips, he grabbed her from waist. He didn’t say a word, but she heard him. His eyes talked everything. Cupped her face in his hands, her breath kissed his breath. One, two and few pack of kisses, they aligned in one breathe.

Standard
Poetry

मोड़

वो मोड़ याद होगा तुम्हें,
वही जहाँ रात भर
नींद यूँही बैठी रहती थी
और तुम और मैं
बस अर्सा बाते
करते रहते थे।

हाँ वही,
आज उसी अँधेरे से
मेरा रास्ता मुड़ रहा हैं।

Standard
Poetry

सपना

घड़ी देख बताया उसने,
बस थोड़ा सा लेट हुआ हूँ,
चाँद को जाने वाली बस,
अभी आयी नहीं लेकिन।

हर रात का हैं ये,
सपने सच होते तो
बस न छूटती कभी।

Standard
Fictions

लेट हो जाऊंगा

टिक टिक टिक… घड़ी जब रात के अँधेरे में बात कर रही थी, रचित का टेक्स्ट आया मोबाइल पर।

“मैं लेट हो जाऊंगा। तुम सो जाओ।”

अभी इंतज़ार से थक कर सोने ही लगी थी के दरवाज़े पर दस्तक हुई। पाऊ अपनी ही आहत से डर रहे थे, और जैसे सारा शहर मुझे ही सुनाई दे रहा हो। दरवाज़े से झाँका तो, रचित खड़ा था। फिर उसने अपने ही फ़ोन से कॉल किया, ये अजीब लगा।

“हेल्लो, आप रचित गुप्ता के घर से बोल रही हैं। अभी कुछ देर पहले रिंग रोड पर बाइक का एक्सीडेंट हुआ हैं, आप आ कर यहाँ रचित की बॉडी की शनास्त कर लीजिए।” दूसरी ओर से इंस्पेक्टर ने कहा।

रचित ने वादा भी निभाया आने का, और मैं पूछ भी न सकी उसके सर पर चोट कैसे लगी।

Standard
Fictions

Baby, it’s cold outside

“I really can’t stay (but baby, it’s cold outside),
I’ve got to go away (but baby, it’s cold outside)…”

To this song, she was taping a foot, while walking to her house. He was waiting on his bike, like any other day. He took a minute, and then blocked her way. He hugged her. She tried escaping him. He groped her, pulled her towards darker side of the road.

“The neighbors might think (baby, it’s bad out there)
Say what’s in this drink? (no cabs to be had out there)…”

Singer of the song warned her, but she didn’t know old Christmas song had a new meaning for rapists.

Listen to above mentioned song here.

Standard
Fictions

किताब और ऐनक

 

 

कभी दादी नानी से कोई कहानी नहीं सुनी थी रचित ने। उसे नहीं पता था रात कैसे गुजर जाती हैं उनकी गोद मे सर रखते ही।

एक रात काम से लौटते हुए गुप्ता जी एक नई गुलज़ार की किताब लेके आए। मेज पर रखी किताब और ऐनक को रचित कोने से घूरता रहा।

उस रात ना वो ऐनक आँखों से उतरी, ना वो पिता के गोद मे सोया रचित।

Standard